20 खतरनाक कुत्ता | 20 Dengerous Dog Motivational Story

अगर इंसान खुद की गलतियों को अपनी गलतियों पर उंगली पर गिनने लगे तो दूसरे की जिंदगी में उंगली करने का वक्त ही नहीं मिलेगा……

एक बार की बात है एक बड़ा अच्छा राज्य और उसका बड़ा अच्छा एक राजा बहुत सारी अच्छाइयों के बीच में उस राजा की एक बुराई भी थी एक समस्या थी जहां उसके राज्य में किसी ने भी गलती की तो है अपने 20 खूंखार कुत्तों के सामने फेंकने का आदेश दे देता है इसने एक बारे में 20 खूंखार कुत्ते पाल रखे थे सजा देने के काम आते थे सभी लोग इसी बात से बहुत ही परेशान रहते थे दुखी रहते थे समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें राजा साहब को तो बहुत ही गुस्सा आता है। एक मंत्री विश्वसनीय मंत्री राजा का जिस पर बहुत भरोसा करता था राजा।

वह भी सोचता था कि क्या करें क्या उपाय निकाले राजा का एक दिन उसी मंत्री से एक गलती हो गई उसने एक आदेश फॉलो करवाने के लिए दिया उसने फॉलो नहीं करवाया राजा ने बुलाया दरबार में बेजत करने लगे राजा साहब और सैनिकों को आदेश दिया कि जाओ जाकर के 20 खूंखार कुत्तों के सामने फेंक दो मंत्री ने कहा कि महाराज थोड़ा तो सोच लीजिए आपके इतने सालों तक सेवा की है थोड़ा तो सोचिए एक बार माफ कर दीजिए 

बोला कि नहीं जो आदेश जनता के लिए सबके लिए वो ही आदेश तुम्हारे लिए भी है तो उस मंत्री ने कहा कि महाराजा आखिरी इच्छा तो सुन लीजिए महाराज बोला कि सुनाओ मंत्री ने कहा कि महाराज मुझे 10 दिनों की मोहलत दे दीजिए राजा सोचा कि भाई इतने समय तक हमारी सेवा की है मंत्री है हमारे साथ रहा है इसके लिए तो इतना तो कर ही सकते हैं राजा ने उसे 10 दिनों की मोहलत दे दी अब जो 10 दिन की मोहलत दी थी मंत्री जो था वह 10 दिनों के लिए गायब हो गया राजा को लगा कि वापस आएगा नहीं आएगा मंत्री 11 वे दिन दरबार के सामने आ गया बोला कि महाराज आप जो सजा देना चाहते हैं भुगतने के लिए तैयार हूं राजा ने कहा कि ले जाऊं सैनिकों को आदेश दिया कि ले जाऊं बारे में पीछे पीछे मैं भी आता हूं राजा साहब भी पहुंचे  बारे के दरवाजा भी खोला गया मंत्री को अंदर भेजा गया 

वह जो 20 खूंखार कुत्ते थे उनका भी दरवाजा खोला गया पिंजरे से वह भी बाहर निकल गया है लेकिन राजा ने देखा कि तू 20 खूंखार कुत्ते इस पर अटैक करने के बजाय इसको प्यार करने लगे चाटने लगे जो कुत्ते थे राजा को समझ नहीं आया कि हो क्या गया है जिसको ट्रेन किया गया है कि सजा दें वह कुत्ते से प्यार कर रहे हैं जोर से आवाज दिया कि मंत्री जी चमत्कार कैसे हो रहा है मंत्री ने कहा कि महाराज पास बुलाओ तो मैं आपको अपनी बात बता सकू पास बुलाया गया तो मंत्री ने बताया कि आपने जो 10 दिनों की मोहलत दी थी उस 10 दिनों में मैंने इन जानवरों की खूब सारी सेवा की खाना खिलाया नहालाया प्यार किया इनको उस 10 दिनों में इन का सोभाव है मेरे लिए बदल गया लेकिन आप जो बरसों से मैं आपकी सेवा कर रहा हूं आपको मुझे इतना गुस्सा आ गया की आप मुझे मौत की सजा देने के लिए तैयार थे

इसका इस समय यह सीख मिलती है

हमारी जिंदगी में ऐसे कई सारे लोग रहे हैं जिनके बहुत सारी अच्छाई है लेकिन एक जहां उन्होंने गलती की हम उन्हें ऐसे देख लेते ऐसी नजर से देखने लगते हैं जैसे उन्होंने बहुत बड़ा पाप कर दिया हूं हमें माफ करना आना चाहिए दुनिया की बहुत बड़ी कला है 

RELATED ARTICLES