अपनी लाइफ कम्पेयर ना करें | Apni Life Compare Na Karen Motivational Story

कहते हैं कि हर जगह इत्र ही नहीं महका करते, कभी-कभी शख्सियत भी खुशबू दे जाती है।

एक बार एक जंगल में एक कौवा रहता था कौवा बड़ा खुश था अपनी जिंदगी से जो कुछ मिला उसमें वह बड़ा ही संतुष्ट था दाना चूक करके घर आ जाता था अपने घोसले में रहता था कुल मिलाकर सब कुछ बहुत बढ़िया चल रहा था लेकिन एक दिन उसने गलती से एक सुंदर सफेद पक्षी को देख लिया वो सोचा कि कौन है जो मुझसे ज्यादा चमकदार है उससे बात करने के लिए उसके पास पहुंचा 

सफेद पक्षी से उसका नाम पूछा है तुम्हारा नाम क्या है तो उस पक्षी ने कहा कि मेरा नाम हंस है तो उसने कहा तुम तो बड़े खुश रहते होंगे क्योंकि तुम इतने चमकदार हो इतने सफेद हो मुझे देखो मैं बिल्कुल काला हूं हंस ने कहा कि नहीं मैं भी पहले यही सोचा था कि मैं दुनिया का सबसे चमकदार और खूबसूरत पक्षी हूं लेकिन मैंने जब से तोते को देखा है तो मुझे लगता है कि तोते जितना कोई सुंदर नहीं है तो हंस से पूछा इस कौवा ने कि तोते के बारे में कुछ बताओ क्या है और कौन है तो हंस ने बताया कि वह दो रंग वाला पक्षी है

तुम्हारे और मेरे पास तो एक-एक रंग है तुम काले हो में सफेद हूं लेकिन तोते के पास दो रंग है तोते ऊपर वाले का हरा रंग दिया है गाल में लाल रंग दिया है तो उसे जाकर मिलो मजा आ जाएगा तो ये जो कौवा था उड़ करके ढूंढने लगा जंगल में मिल जाए कोई दो रंग वाला पक्षी तो इसे तोता दिखाई दिया जा करके पूछा कि तुम्हारा नाम तो होता है

उसने कहा हां भाई मेरा नाम तोता है बोला तुम्हें ऊपर वाले ने दो रंग दे दिए तुम तो बड़े खुश रहते होंगे तुम्हारे गले में लाल रंग है ऊपर वाले ने हरे रंग दिया है मजा आता होगा तुम्हारे जिंदगी में उसने कहा नहीं नहीं मुझे लगता था पहले कि मैं सबसे ज्यादा सुंदर हूं इस जंगल में मुझसे ज्यादा सुंदर पक्षी कोई नहीं है लेकिन जब से मैंने मोर को देखा मैं भूल गया सब कुछ मुझे लगा कि मोर ही सबसे ज्यादा सुंदर है तो  

तो कौवा ने पूछा कि मोर के बारे में बताओ भाई क्या है मोर तो तोते ने बताया कि मोर जो है बड़े रंग वाला पक्षी है बड़ा रंग बिरंगी है तुम जाकर के मिलो एक बार बड़ा मजा आ जाएगा ढूंढो तुम बिल्कुल लंबे लंबे पंख है उसके कौवा ने फिर से अपनी उड़ान शुरू करें फिर से तलाश शुरू करें सबसे सुंदर पक्षी को सबसे खुश पक्षी को  ढूंढ लो उसने पूरे जंगल में छान मारा लेकिन उसे कोई मोर नहीं दिखाई दिया उड़ते उड़ते उड़ते हैं 

शहर में पहुंच गया और वहां देखा कि चिड़ियाघर में एक मोर था उसे देखने के लिए बड़े सारे लोग आए हुए थे फोटो क्लिक करें जैसे आज का टाइम हम सेल्फी बोलते हैं कौवा यह सब देख रहा था कौवा ने कहा वाह साहब क्या मजे चल रहे हैं ये है सब से खुश यह सबसे सुंदर जब भीड़ छठ गई चिड़ियाघर बंद होने का टाइम हुआ जब लोग चले गए तो उसके पिंजरे के पास कौवा वहां पहुंचा और पूछा कि भाई तुम्हारा नाम मोर है हां भाई मेरा नाम मेरा है भैया तुम्हारे बारे में बड़ा ही सुना है जंगल में कहते हैं सबसे सुंदर सबसे कमाल का पक्षी वो है जो मोर है

मोर ने कहा अरे अच्छा बोला किस-किस ने बताया बोला की हंस ने बताया तोते ने बताया उनसे भी ज्यादा सुंदर हो आपके पास कितने सारे रंग हैं तो मेरा ने कहा कि मेरे भाई मैं सबसे ज्यादा खुश नहीं हूं मुझे देख रही हो मैं इस पिंजरे में बंद हूं मेरे साथ हर कोई फोटो खिंचाने तो आते लेकिन मुझे कोई आजाद नहीं करता तुम्हें देखो कितने खुश हो जहां मर्जी आई वहां जा सकते हो उड़कर के चाहे जहां पहुंच जाओ तुम्हें कोई रोकने वाला नहीं है उस दिन उस मोड़ ने उस कौवे को उसकी जिंदगी की अहमियत उसे समझा दी

इस कहानी से यह सीख मिलती है 

आपके हमारी जिंदगी में भी यही होता है कई बार हम अपनी जिंदगी की तुलना दूसरों की जिंदगी से करते हैं यह नहीं समझते कि जो हमारी जिंदगी की सिचुएशन है वह अलग है जो दूसरे बंदे की सिचुएशन है वह अलग है हमारे जीवन में हर कोई एक-दूसरे से कम प्यार करता है जिस दिन हम कम पे करना बंद कर देंगे हम अपनी जिंदगी में उतना ही खुश रहेंगे इंसान का सबसे बड़ा दुख का कारण है कंपेयर कराना जिस दिन हमने अपनी तुलना बंद कर दी उस दिन शायद हम अपनी जिंदगी में कमाल कर पाएंगे

RELATED ARTICLES