क्या पता आने वाला दिन कैसा हो | Do You Know How The Day Is Going To Be Motivational Story

कैलेंडर हमेशा तारीख बदलता रहता है मगर एक दिन एक तारीख ऐसी आती है जो हमेशा कैलेंडर को ही बदल देती है

यह कहानी एक गरीब परिवार के लड़के की है जिस के घर में पैसे नहीं थे घर घर जा जा के सामान भेजता था स्कूल के बाद में और उस  समान से जो भी पैसा मिलता था उससे स्कूल की फीस भरता था यह लड़का एक दिन स्कूल से निकला हुआ था घर घर जा रहा था दरवाजे खटखटा रहा था उसे बहुत तेज से भूख लगी इसने डिसाइड किया कि वह जिस भी घर में सामान बेचेगा उस घर में पैसे के बदले मैं खाना मांगेगा 

यह गया एक घर में और दरवाजा खटखटाया तो जब दरवाजा खोला तो अंदर से एक लड़की निकली और लड़की देख कर के हक्का-बक्का रह गया इसे समझ नहीं आया अब कैसे बोलूं यह घबरा गया था तो इसने अचानक से एकदम पानी मांग लिया कि एक गिलास पानी मिलेगा यह लड़की गई अंदर और देखा कि लड़का परेशान सा है और थोड़ा थका हुआ सामान का बोझ है  पसीना निकल रहा है तो मुझे लगता है कि वह भूखा होगा तो उसने पानी के बदले एक गिलास दूध ले आए और दूध ला करके इस लड़के को दे दिया और इस लड़के ने दूध पी लिया जब यह दूध पी रहा था तू मन ही मन सोच रहा था हां अभी भी ऊपर वाला है इसके दिमाग में सारी अच्छी-अच्छी बातें आ रही थी हमें ऊपर वाले का धन्यवाद करना चाहिए की एक दूसरे की मदद करनी चाहिए वो लड़का खाली दूध का गिलास इस लड़की को दिया और बोला कि

मैं आपको कितने पैसे दूं तो इस लड़की ने कहा कि आप पैसे क्यों दोगे हम अगर किसी की मदद करें तो हमें पैसे नहीं लेनी चाहिए ऐसा हमारी मम्मी बोलती हैं तो इस लड़के ने कहा कि आप कोई सामान खरीद ना है खरीद सकते हो मैं आपसे पैसे नहीं लूंगा तो उस लड़की ने कहा कि हमें कोई सामान नहीं चाहिए लड़का तब यह बोलता है कि आपका दिल से धन्यवाद क्योंकि की मुझे बहुत जोरों से भूख लगी थी आपने मुझे गिलास में दूध पिलाया उसके लिए दिल से धन्यवाद आपने मेरी मदद की है थैंक यू सो मच ऐसा बोल कर के वहां से चल दिया

जब यह गली से जा रहा था तब ये सोचा कि हां भाई अभी भी इंसानियत है कि ऊपर वाला है लड़की ने मेरे लिए एक गिलास दूध लेकर आ गई इसके दिमाग में बहुत अच्छे अच्छे से बात चल रहे थे इसके बाद में इसने अपनी स्कूल कि पढ़ाई फिर कॉलेज पढ़ाई की इसके बाद में इस बड़े शहर का सबसे बड़ा डॉक्टर बन गया इधर जो यह लड़की थी इसकी फैमिली कंडीशन बिगड़ गई इस लड़की की तबीयत खराब होने लगी बीमार होने लगी तो एक लोकल डॉक्टर ने कहा इसके इलाज यह नहीं सकता कोई बड़ी शहर में ले जाइए बड़े डॉक्टर से दिखाइए तो इस लड़की को बड़े से हॉस्पिटल में एडमिट कर दिया गया जहां पर यह लड़का डॉक्टर था डॉक्टर खुराना 

डॉक्टर खुराना के पास कैसे आया इसके बारे में पढ़ा बीमार है सीरियस कंडीशन में है आईसीयू में रखी गई है इसके गांव के बारे में पढ़ा इसका नाम पड़ा तो याद आया कि यह तो वही लड़की है जा करके  देखा है यह तो वही लड़की है इसकी मदद करनी चाहिए इन्होंने और एक्सपोर्ट डॉक्टरों को बुलाया सारी जी जान लगा दी इसकी तबीयत ठीक करने में इसकी तबीयत अब धीरे-धीरे सही होने लगी जब यह पूरी तरह से ठीक हो चुकी थी तो डॉक्टर साहब ने अपनी तरफ से ट्रीटमेंट का जो बिल जाता है 

वह बिल लिफाफे में रखकर के दिया साथ में एक छोटी सी पर्ची में पेन से लिख कर अटैच करके

दिया तो यह लिफाफा जब इस लड़की के पास में पहुंचा जगह डिस्चार्ज हो के लिए ठीक हो चुके थे तो उसने देखा कि इसके पास में बिल आ चुका है यह घबरा गई थी ठीक तो हो चुके हैं पर इसकी फैमिली कंडीशन ऐसी नहीं थी के बिल पे कर सके तो उसने सोचा कि पता नहीं कितने का बिल आया होगा जब इसने लिफाफा खोला इसमें ट्रीटमेंट के बारे में सब कुछ लिखा था दवाइयों के बारे में सब कुछ लिखा था एक छोटा सा नोट चिपका हुआ था जिसमें पेन से कुछ लिखा हुआ था तो इसने देखा फिर इसने ध्यान से पढ़ा उसमें लिखा था आपकी ट्रीटमेंट का बिल कुछ सालों पहले एक दूध का गिलास पे कर चुका है डॉक्टर साहब वहां पहुंचे डॉक्टर को देखकर यह भी पहचान गई और अब इसने कहा अब आपका दिल से धन्यवाद उस दिन आपने दिल से धन्यवाद किया था और आज मैं आपसे दिल से धन्यवाद करता हूं

इस कहानी से सीख मिलती है

अगर हम लाइफ में कुछ अच्छा करते हैं तू अच्छा ही हमारे जीवन में घूम फिर कर वापस आएंगे चाहे हमने पूरा किया हो या अच्छा हमें हमारे लायक नहीं आना निश्चित है अगर हम पूरा करते हैं तो घूम फिर के वह बुराई अपने आप चली आएगी

RELATED ARTICLES