जीत गया तो क्या होगा | Jeet Gaya To Kya Hoga Motivational Story

मंजिल उन्हें नहीं मिलती मेरे दोस्त जिनके ख्वाब बड़े होते हैं बल्कि मंजिल उन्हें मिलती है जो जिद पे अड़े होते हैं 

एक बार की बात है एक बार एक स्टैंडर्ड कॉमेडियन बहुत कमाल की स्टैंडर्ड  करता था बहुत कमाल का उसका एक्ट होता था लोग उसे बहुत पसंद करते थे बहुत प्यार देते थे उसकी धीरे-धीरे जो है उसकी लोकप्रिय बढ़ने लगी एक बार एक न्यूज़पेपर वाले उसके पास आए बोला कि हम आपका इंटरव्यू करना चाहते हैं तो इंटरव्यू शुरू हुआ बहुत सारी सवाल जवाब होने लगे आखरी में जो न्यूज़पेपर का रिपोर्टर था उसने कहा कि आप ऐसा कोई रिकॉर्ड है जिसे तोड़ना चाहते हैं ऐसा कोई रिकॉर्ड बताइए जो आप उसे तोड़ना चाहते हैं जो आपके दिमाग में हो 

अब इस स्टैंडर्ड कॉमेडियन के दिमाग में ऐसा कुछ था ही नहीं क्योंकि इस बंदे ने आज तक कुछ सोचा नहीं था 

इसे बताएं ऐसा तो कुछ भी नहीं है मेरे दिमाग में जो रिकॉर्ड में तोड़ना चाहता हूं तू रिपोर्टर ने कहा कि नहीं सर कुछ तो बताइए मतलब लिखना पड़ेगा मैं छापना है अखबार में बढ़िया सा आर्टिकल होना चाहिए तो स्टैंडर्ड कॉमेडियन ने कहा कि मैं 1 मिनट में सबसे ज्यादा बोलने का रिकॉर्ड बनाना चाहता हूं अगले दिन अखबार में यह बात छपी हैडलाइन छप गई जो हमारे शहर के सबसे बड़े स्टैंडर्ड कॉमेडियन एक नया रिकॉर्ड बनाना चाहते हैं 

यह बात न्यूज़ चैनल वालों ने भी पड़ी तुरंत उन्होंने कॉल लगाया बोला कि सर हम आपको आज ही शाम को इनवाइट कर रहे हैं आज ही शाम को 8:00 बजे लाइव टेलीविजन पर प्राइम टाइम शो में आपको मौका देंगे  कि आप 1 मिनट में सबसे ज्यादा वर्ड बोलने का रिकॉर्ड तोड़ दीजिए अब इस बंदे को अचानक से डर लगने लगा इसने बोला कि क्या हो गा मेरे साथ मैंने क्यों बोल दिया ये ना कुछ सोचा था ना ही कोई तैयारी थी समझ में कुछ आ रहा था कि होगा क्या वहां से कॉल आ गया और इन्होंने हां बोल दिया उसके बाद शाम में टीवी चैनल वालों की गाड़ी इन्हें लेने के लिए आ गई फाइनली ये टेलीविजन चैनल के ऑफिस पहुंचे स्टूडियो में जैसे इसे पास ले जा रहे थे स्टूडियो की एंट्री होने वाली थी तभी सांसे बढ़ने लगी इस बंदे के दिमाग में कई सारे सवाल आ गए

की हार गया तो क्या होगा फिर उसने सोचा कि बुरा से बुरा क्या हो सकता है यही हो सकता है कि नहीं कर पाऊंगा लोग मेरे बारे में कहने लगेंगे क्या मतलब कुछ तो अभी शेखचिल्ली बना रहे थे उसके बाद इस बंदे ने वह सोचा जो हर किसी को सोचना चाहिए जीत गया तो क्या होगा बहुत सारा प्यार मिलेगा बहुत सारी लोकप्रिय मिलेगी बहुत ज्यादा फेम मिलेगा कैमरा ऑन हुआ लाइव टेलीविजन पर इस बंदे ने 1 मिनट में 500 से ज्यादा वर्ड्स बोलिए रिकॉर्ड बना दिया  

इस कहानी से हमें सीख मिलती है कि

हम इस दुनिया में यही सोचते रहते हैं कि हार गया तो क्या होगा जिस दिन हमने यह सोचना शुरू कर दिया कि जीत गया तो क्या होगा तो कमाल हो जाएगा हमें अपनी जिंदगी में अपने लाइफ में अगर नाम रोशन करना है तो अपने देश में अपना नाम नहीं बल्कि अपने देश का पूरे विश्व में नाम रोशन करना है

RELATED ARTICLES