महंगी कार | Mahangi Car Motivational Story

घर जाने की जल्दी में हम कई बार भूल जाते हैं, कि कुछ लोगों के तो घर भी नहीं है

एक बार की बात है एक बहुत ही अमीर इंसान अपने ऑफिस से निकला और महंगी कार से ड्राइव करते हुए थोड़ा सा आगे बढ़ा ही था कि उसने देखा की गाड़ियों के बीच में एक छोटा सा बच्चा दौड़ता हुआ निकल रहा है। उस बच्चे को देखी रहा था इसी बीच में जोर से एक ईट आ कर के उसके कार पर पड़ती है उसे समझ में नहीं आता उसे समझ में नहीं आता कि एक छोटा सा बच्चा दौड़ते हुए मेरी गाड़ी पर ईट क्यों फेंक रहा है 

वह आगे से घुमा कर के वापस लेकर आता है गाड़ी और उतर करके तुरंत भागता है उस बच्चे को ढूंढने के लिए कारो की बीच में वह बच्चा छुपा होता है उसे कहता ये क्या तरीका है यह क्या बदतमीजी है इस तरीके से आप क्यों मेरी कार पर इट फेक रहे हैं वह बच्चा बहुत विनम्रता से कहता है सर मुझे मालूम है आपको बहुत गुस्सा आ रहा है आप मुझे पीटना चाहते हो मारना चाहते हो लेकिन क्या करूं मेरी कोई आवाज ही नहीं सुन रहा है तो मुझे ईट फेंक कर मारनी पड़ी

मैं इतनी देर से हेल्प हेल्प चिल्ला रहा हूं लेकिन मेरी कोई बात नहीं सुन रहा है बहुत देर से मदद मांग रहा हूं मेरी तरफ कोई ध्यान ही नहीं दे रहा है बोला बात क्या हो गई तो उस छोटे से बच्चे ने कहा कि सर मेरा भाई अब से थोड़ी देर पहले एक बाइक वाले ने उसे टक्कर मार कर चला गया उसका खून बह रहा है इतना भारी है कि मैं उसे उठाकर के सड़क तक भी नहीं ला पाता हूं मैंने जैसे-तैसे उसे साइड किया है उसको मैं देखा नहीं पा रहा हूं लोगों को बता नहीं पा रहा हूं इसकी मदद कीजिए मेरी मदद कीजिए 

कोई मेरी बात नहीं सुन रहा है इसीलिए मुझे ईट फेंक करके आपकी  कार पर मारनी  पड़ी ये जो बंदा था ऑफिस से जो निकला था अमीर इंसान जो घर जाने के लिए लेट हो रहा था यह उसके साथ गया उसके भाई को देखा कि वाकई में ही बहुत भारी भरकम सा बच्चा   उसको ये उठा के लाया कुछ लोगों ने उसकी थोड़ी मदद की और कार में इसको बैठाया खून के धब्बे इसकी कार में निशान निशान हो गए लेकिन कोई बात नहीं उसको हॉस्पिटल में लेकर गया हॉस्पिटल में इमरजेंसी वार्ड में उसको एडमिट करवाया जब डॉक्टर ने कहा कि हां अब यह बच्चा खतरे से बाहर है तो यह भाई साहब जो ऑफिस से जो घर के लिए निकले थे अपने घर के लिए वापस हॉस्पिटल से निकले अबकी बार स्पीड बहुत ही स्लो थी समझ नहीं पाए थे कि हुआ क्या है मेरे साथ 

घर पहुंचे गाड़ी पार्क की उस डेंट की तरफ नजर गई तो देखा की डेंट तो बहुत ही गहरी थी और नजर भी आ रही थी बहुत बड़ा डेंट हुआ था क्योंकि ईट बड़ी थी उस ईट से डेंट नोटिस में आ रहा था लेकिन इन्होंने सोचा कि अब इसे रिपेयर नहीं कराऊंगा क्योंकि यह डेंट मुझे बार-बार जिंदगी में बताता रहेगा के इतने भी कठोर मत हो जाओ कि जिंदगी को ईट फेंक के याद दिलाना पड़े कि कोई आपकी मदद के लिए इंतजार कर रहा है 

इस कहानी से सीख मिलती है कि

जिंदगी हमसे कम्युनिकेट करना चाहती है आपके कानों में विस्पर करती है  लेकिन हम कई बार नोटिस नहीं करते फिर जिंदगी में वही ईट आने लगती हैं इसीलिए हमें याद रखना चाहिए कि क्या पता हमें किसी को कब ऊपर वाला बनाकर भेज दे यह हम भी नहीं जानते

RELATED ARTICLES