गणित सूत्र दरवाजा | Math Formula Door Motivational Story

शब्दों का भी तापमान होता है यह सुकून भी देते हैं और जला भी देते हैं

एक बार एक राजा का कोई संतान नहीं थी राजाने कई व्यक्तियों को दिखाया हकीम को दिखाय कई दवाइयां  ली लेकिन कोई भी फायदा नहीं हुआ राजा ने भगवान से मन्नत भी मांगी लेकिन कोई भी फायदा नहीं हुआ राजा धीरे-धीरे से बूढा हो चुकी थी राजा सोचा कि अब क्या किया जाए राज्य के लिए कोई उत्तराधिकारी होने चाहिए उस राज्य के दिमाग में एक आईडिया आया एक सुंदर सा महल बनवाया और उस महल के दरवाजे पर गणित का फार्मूला

लिखवाया गया उसके बाद उस राजा ने ढिंढोरा पिटवा या और राज्य में ऐलान करवा दिया गया जो भी इस दरवाजा को खोलेगा यानी इस गेट को खोलेगा यह महल उसका हो जाएगा और यहां तक कि आने वाला राजा भी वही बनेगा उसके बाद काफी सारे लोग उस राज्य में आए उस गेट के फार्मूले को देखा कुछ लोग लिखकर लेकर कुछ लोग याद कर ने लगे कुछ लोग वहीं खड़े थे और देख रहे थे कि इस फार्मूले का क्या कैसे सॉल्व होएगा इससे गेट कैसे खुलेगा काफी मैथमेटिशियन वह आज भी वहां जाकर के प्रैक्टिस की लेकिन बात नहीं बन पाई फाइनली कुछ दूसरे राज्य के मैथमेटिशियन आए 

एक दिन ऐसा आया कि लोग थक हार कर जा रहे थे बस 3 लोग वहां बचे थे दो तो दूसरे राज्य के बड़े-बड़े मैथमेटिशियन थे और एक नॉर्मल सा लड़का जिसको देखकर लग रहा था कि ध्यान व्यान करता होगा योगा करता होगा इसलिए वह भी वहां खड़ा था राजा ने कहा कि बेटा आप तो अलग-लग रहे हो मैथमेटिशियन में भी हार मान ली अब आप आओ आपकी बारी है लड़का कहता नहीं महाराज मैं तो यहां पर खड़ा हूं बस मुझे बैठने के लिए जगह दे दीजिए इनको सॉल्व करने दीजिए अगर इन्होंने सॉल्व कर लिया तो बढ़िया बात है राजा बन जाएंगे महल भी इनका हो जाएगा उन्होंने नहीं किया तो मैं कर लूंगा उन दोनों लोगों ने सुबह से शाम तक समय लगा लिया लेकिन वह फार्मूला सॉल्व नहीं हुआ उन्हें समझ नहीं आता कि किसने यह फार्मूला बनाया है आखिर ऐसा क्या है जिससे दरवाजा खोलेगा फाइनली जब उस लड़की का नंबर आया अब इस लड़के का नंबर था 

लड़के को बुलाया गया और यह लड़का गया वो गया दरवाजे के पास उसने धीरे से दरवाजा को धक्का दीया और वह दरवाजा खुल गया जैसे ही दरवाजा खुला तो काफी लोगों उस से सवाल पूछने लगे कि आपने ऐसा क्या दिमाग लगा क्या टेक्निक लगाए जिससे दरवाजा खुल गया आपने कैसे यह फार्मूला सॉल्व कर दिया तो उस लड़के ने कहा जब मैं वहां बैठा था आंखें बंद करके जब मैं सोच रहा था कि हो सकता है कोई फार्मूला ही ना हो दरवाजा किसी फॉर्मूला का नहीं था सिर्फ इस दरवाजे को जाकर के धकेलना था राजा उसकी बात से खुश हुआ राजा ने से महल भी दिया और इसे उत्तराधिकारी भी बनाया

इस कहानी से यह सीख मिलती है

कभी-कभी आपकी लाइफ में हमारी लाइफ में प्रॉब्लम्स आते हैं उस प्रॉब्लम को सॉल्व नहीं करते उसके सामने हम खड़े नहीं हो पाते हैं जहां तक कि वह प्रॉब्लम कुछ भी नहीं होते कई बार बड़ी बड़ी प्रॉब्लम कुछ ऐसे ही टेक्निक से खुल जाते हैं हम कि लेकिन वह छोटे प्रॉब्लम्स होते हैं जिंदगी में कभी कबार मुश्किल होती नहीं है हम सोच रहे होते हैं बहुत बड़ी प्रॉब्लम है लेकिन प्रॉब्लम बहुत छोटी सी होती है हमारे आस पास है उसको सोल्यूशन पास में ही होता है

RELATED ARTICLES